उत्तराखंड के मेडिकल कॉलेजों में बढ़ेंगी एमबीबीएस की सीट

उत्तराखंड के मेडिकल कॉलेजों में बढ़ेंगी एमबीबीएस की सीट: डॉक्टर बनने का सपना देख रहे युवाओं के लिए खुशखबरी है। यदि सब ठीक रहा तो आने वाले दिनों में प्रदेश के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की सीटों में इजाफा होगा। हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में सीटों की संख्या 100 से बढ़कर 150 होने वाली है। प्रदेश में डॉक्टरों की बड़ी भारी कमी है। राज्य के 995 सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों के 2711 स्वीकृत पदों में 1615 खाली पड़े हैं। यदि इनमें स्पेशलिस्ट व सुपर स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की गणना की जाए तो और भी गंभीर स्थिति है।

https://www.notinmyname.co.in/wp-content/uploads/2018/11/MBBS.jpg

मेडिकल कॉलेजों

ऐसे में मानव संसाधन के लिहाज से नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना व स्थापित कॉलेजों को अधिक सुदृढ़ बनाने की कवायद चल रही है। हल्द्वानी व श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में पीजी की सीटें बढ़ाने की तैयारी चल रही है। इतना ही नहीं सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में एमबीबीएस की सीटें भी बढ़ने जा रही हैं। राज्य में अभी तीन सरकारी मेडिकल कॉलेज हैं। इनमें हल्द्वानी व श्रीनगर में एमबीबीएस की 100-100 सीट हैं। दून मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की 150 सीटें हैं। इन सीटों में 85 प्रतिशत पर प्रदेश के जबकि बाकी पर अन्य राज्य के युवाओं को दाखिला मिलता है।




यदि सब ठीक रहा तो हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की पचास सीट और बढ़ जाएंगी। बहरहाल कोटद्वार, भगवानपुर, पिथौरागढ़, रुद्रपुर व अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेजों की राह खुल चुकी है। इसके बाद डॉक्टर बनने के इच्छुक छात्रों को और भी कई अवसर मिलेंगे। चिकित्सा शिक्षा निदेशक डॉ. आशुतोष सयाना के मुताबिक हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की 50 सीट और बढ़ाने का प्रस्ताव है। इसके लिए केंद्र से भी 60 करोड़ का अनुदान स्वीकृत हो चुका है। सीट बढऩे का फायदा प्रदेश के युवाओं को मिलेगा।




हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज को वर्ष 2003 में मान्यता मिली। यह न सिर्फ राज्य का सबसे पुराना बल्कि अवस्थापना, संसाधन, फैकल्टी के लिहाज से मॉडल कॉलेज है। यहां विस्तार की भी भरपूर गुंजाइश है। ऐसे में इसे सीट बढ़ोत्तरी के लिए मुफीद माना गया है। जबकि श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में भूमि व कुछ तकनीकी पेंच भी आड़े आ रहे हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *